राशिफल अक्टूबर / Rashiphal October 2015

राशिफल अक्टूबर / Rashiphal October 2015  का फलकथन चन्द्र राशि के आधार पर किया गया है। जन्मकुंडली के आधार पर चन्द्रमा(Moon) जिस राशि में होता है व्यक्ति का वही राशि होता है यथा यदि चन्द्रमा वृष राशि में है तो उस व्यक्ति का राशि वृष होगा अतः व्यक्ति को वृष राशि का ही राशिफल देखना चाहिए। इसी प्रकार नाम के प्रथम अक्षर के आधार पर भी राशि का निर्धारण किया जाता है यथा यदि आपका नाम चु,चे,चो,ला,ली,लृ, ले,लो, और अ अक्षर से प्रारम्भ हो रहा है तो आपकी राशि मेष (Aries)होगी और आपको अपना भविष्य अथवा राशिफल इसी राशि के अनुसार देखना चाहिए। यह राशिफल अवश्य ही आपको अक्टूबर महीना की योजनाओ को बनाने में तथा उसका क्रियान्वयन करने में सहायता प्रदान करेगा। इस राशिफल में गूढ़ार्थ छिपा हुआ है अतः इसे हल्के में लेना उचित नहीं होगा।

 

Rashi chakra-min

मेष राशि का राशिफल(Aries)

इस राशि पर गुरु की दृष्टि पड़ने से मित्रों की सहायता से रुके हुए अथवा अनसुलझे कार्य पुरे होंगे। संतान के ऊपर तथा शुभ कार्यो में अधिक व्यय होगा। नए कार्य का शुभारम्भ या योजनाये  बन सकती है। स्वास्थ को लेकर समस्या आ सकती है कोई दुर्घटना हो सकती है उससे बचने का पूरा प्रयास करें। भाग्य के भरोसे कोई काम न छोड़े। हनुमान चालीसा का पाठ प्रतिदिन करे समस्या स्वतः दूर हो जायेगी।

वृष राशि का राशिफल (Taurus)

शनि की वृष राशि पर दृष्टि होने से दाम्पत्य जीवन में क्लेश बढ़ सकता है। पार्टनरशिप के कार्य में तनाव हो सकता है। गुरु की दृष्टि कर्म स्थान पर होने से कार्य स्थल पर मान सम्मान बढ़ेगा तथा प्रोन्नति भी मिल सकता है। स्वास्थय पर ध्यान दें। मानसिक पीड़ा हो सकती है। माता-पिता का आशीर्वचन लेते रहें लाभ होगा। नए कार्य की योजना बनेगी और कार्यान्वित भी होगा। वाहन का योग बन रहा है। विलासादि कार्यो  पर व्यय अधिक हो सकता है अतः अपने बजट के अनुसार ही कार्य करें।

मिथुन राशि का राशिफल(Gemini)

बुद्धि से काम ले दिवा स्वप्न से बचे। कार्यो में विघ्न आने की सम्भावना है। 16 के बाद सूर्य के राशि परिवर्तन के बाद नए कार्यो में लाभ मिल सकता है परन्तु सूर्य के नीच के होने से आप में आलस्य बढ़ेगा अतः अपने पराक्रम का उपयोग करके पूरा लाभ ले। अपने स्वस्थ पर विशेष ध्यान दे।  अपने छोटे भाई-बंधू से सावधान रहे। दुर्गा पाठ करे लाभ होगा।

कर्क राशि का राशिफल(Cancer) 

यह कर्क का राशिफल आपको मिश्रित फल देने वाला है। धन स्थान पर गुरु होने से धन लाभ के साथ साथ नौकरी,व्यापार में वृद्धि तथा नौकरी में प्रोन्नति के अवसर आ सकता है। नौकरी में बदलाव से लाभ हो सकता है। पारिवारिक क्लेश से बचे नहीं तो नुक्सान होगा। निवेश सोच-समझकर ही करे व्यवधान तथा लाभ में कमी हो सकता है। बुद्धि विवेक से काम ले जल्दीबाजी न करे लाभ होगा। शिवजी के ऊपर दूध चढ़ाये लाभ होगा।

सिंह राशि का राशिफल(Leo)

भाग्येश,कर्मेश तथा पंचमेश क्रमशः गुरु, शुक्र, मंगल सब का इसी राशि में होने के कारण इस मास में आपको धन लाभ के अवसर तो मिलेगा वर्तमान और भविष्य को लेकर उलझन बना रहेगा।  आपको व्यापार या नौकरी में उतार-चढाव तथा कुछ परेशानियों का सामना करना पड़ेगा। राशि स्वामी सूर्य नीच होकर तुला राशि में होगा अतः स्वास्थ्य सम्बन्धी परेशानी आएगी चोट-टूट फुट भी हो सकता है सावधान रहे। सूर्य को जल देना तथा पिता से प्रतिदिन आशीर्वाद लेना लाभकारी होगा।

कन्या राशि का राशिफल(Virgo)

इस राशि पर बुध तथा सूर्य का संचार 16 अक्टूबर तक रहेगा इससे रुके हुए सभी कार्यो में प्रगति होगी। आय के साधन सीमित होने के बावजूद सभी कार्य पुरे होंगे। 16 अक्टूबर के बाद द्वादशेष सूर्य नीच होकर द्वितीय भाव तुला राशि में संचार करेगा व्यर्थ का खर्च बढ़ जायेगा तथा पारिवारिक रिश्ते में तनाव का माहौल भी बन सकता है अतः विवेक का इस्तेमाल करे तथा पिता से आशीर्वाद ले सब ठीक होगा। अकारण यात्रा का योग बन सकता है। भवन के रख-रखाव तथा सौंदर्य के ऊपर व्यय करना पड़ सकता है।

तुला राशि का राशिफल(Libra)

शनि के साढ़ेसाती होने के कारण शारीरिक तथा मानसिक कष्ट होगा माता का स्वास्थ्य खराब हो सकता है ध्यान दे संतान पक्ष से शुभ समाचार मिल सकता है परन्तु मंगल के प्रभाव के कारण परेशानी भी हो सकती है। फिजूल खर्च हो सकता है। पारिवारिक तनाव रहेगा विवाद से बचे। भाई से  सहयोग  लाभ मिलेगा।

वृश्चिक राशि का राशिफल(Scorpio)

इस राशि के लिए शनि की साढ़ेसाती तथा शनि का इस राशि पर संचार होने से आय से अधिक व्यय होगा। प्रॉपर्टी तथा भाईबन्धु की भूमिका को लेकर उलझन बना रहेगा अतः अपने संतान तथा पत्नी को विश्वास में लेकर ही कोई फैसला करें यही नहीं व्यापार तथा नौकरी में भी उनका सहयोग  ले सकते है अच्छा रहेगा। किसी कार्य में विघ्नता तथा भागदौड़, लगा रहेगा धन की हानि तथा पारिवारिक उलझन तथा चिंता बनी रहेगी। हनुमान चलिषा का पाठ करे या केवल ” बल बुद्धि विद्या देहु मोहि हरहु क्लेश विकार” का मन में जप करे आपका कल्याण होगा।

धनु राशि का राशिफल(Sagittarius)

राशि स्वामी गुरु के भाग्य स्थान में पंचमेश  मंगल तथा लाभेश शुक्र के साथ होने से पुत्र तथा धन लाभ लाभ का योग बन रहा है। विशेष कार्य में पिता का भी  सहयोग मिलेगा। मकान वाहन तथा विलासिता सम्बन्धी वस्तुओ पर खर्च हो सकता है। भगवान विष्णु के शरण में जाए, विष्णु सहस्त्र नाम का पाठ करें।

मकर राशि का राशिफल(Capricorn)

राशि स्वामी शनिदेव लाभ स्थान में बैठकर अपने घर को देख रहे है रुके सभी कार्य पूरा हो सकेगा। संतान पक्ष से कष्ट हो सकता है। व्यवसाय या नौकरी में परिवर्तन हो सकता है या अचानक परेशानी हो सकती है अतः अपने कर्तव्य से भागे नहीं पूरी  निष्ठा के साथ कार्य करें। कार्य के सम्बन्ध में उच्च तथा प्रतिष्ठित लोगो से मुलाकात होगी। 19अक्टूबर के बाद शुभ कार्यो पर खर्च होगा। घर मकान एवं वाहन के ऊपर खर्च हो सकता है। स्वास्थ्य सामान्य रहेगा।

कुम्भ राशि का राशिफल(Aquarius)

प्रारम्भ में इस राशि के ऊपर शुक्र,मंगल तथा सूर्य ग्रहों की दृष्टि होने से धन -सम्पत्ति, यात्रा, मकान, संतान पक्ष तथा नौकरी या व्यवसाय से लाभ मिलेगा। पुरानी योजनाओं या नई कार्य योजनाओ के ऊपर कार्यान्वयन हो सकता है। यात्रा का योग है। मकान अथवा वाहन के ऊपर व्यय हो सकता है। पत्नी से प्रेम बनाकर रखने में ही समझदारी है।

मीन राशि का राशिफल(Pisces)

राशि स्वामी गुरु षष्ठ स्थान में धनेश मंगल तथा अष्टमेश शुक्र के साथ बैठा है आप अपने स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान दें। केश-मुक़दमा हो सकता है अतःआपसी विवाद से बचे। धन लाभ के साथ साथ व्यय भी अधिक होगा। व्यापार में सोच-समझकर निवेश करे। नौकरी में परेशानी आ सकती है। विलासिता सम्बन्धी वस्तुओ पर व्यय होगा।घर-मकान में निर्माण कार्य या उसके साज-सज्जा में व्यय हो सकता है। लोगो से मिलना जुलना बढ़ेगा। नौकरी परिवर्तन का भी योग है। अपने सामर्थ्यानुसार चना दाल का दान करें लाभ मिलेगा।

 
Tagged with 
   
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *