राहु गोचर 2017 का मीन राशि पर प्रभाव | Rahu Transit Effects on Pisces

राहु गोचर 2017 का मीन राशि पर प्रभाव | Rahu Transit Effects on Piscesराहु गोचर 2017 का मीन राशि पर प्रभाव | Rahu Transit Effects on Pisces. राहु ग्रह 9 सितम्बर 2017 को सिंह से कर्क राशि में प्रवेश करेगा तथा कर्क राशि में 24 मार्च 2019 तक भ्रमण करते रहेगा। गोचर के दौरान राहु कर्क राशि में 18 महीने 15 दिन तक भ्रमण करेगा ।

 

राहु ग्रह दिवास्वप्न, धोखा, नया कार्य, बड़ी बड़ी योजना, बिमारी, समाज में नए विचारों की स्थापना या थोपने जैसी घटना को अंजाम देने वाला ग्रह है। यह जातक को अशुभ और शुभ दोनों परिणाम देने में सक्षम है। किन्तु यह सब जातक की जन्मकुंडली में राहु की स्थिति पर निर्भर करेगा।

आइये जानते है कि राहु का कर्क राशि में आने से मीन राशि वाले व्यक्ति के जीवन के विभिन्न क्षेत्रों यथा धन, शिक्षा, व्यवसाय, माता-पिता, परिवार, भाई-बंधू, दाम्पत्य जीवन इत्यादि पर क्या-क्या प्रभाव पड़ेगा।

राहु गोचर 2017 का मीन राशि पर प्रभाव | Rahu Transit Effects on Pisces

राहु गोचर 2017 का मीन राशि पर प्रभाव | Rahu Transit in Cancer

9 सितम्बर 2017 को राहु कर्क में गोचर करेगा। मीन राशि वाले जातक के लिए यह गोचर पंचम भाव में होगा। किसी भी जातक की जन्मकुंडली में पंचम स्थान संतान, प्रेम, विद्यार्जन,ज्ञान, मन, बुद्धि, स्मरण शक्ति, मन्त्र, देवता, शेयर बाजार, खेल जगत, पितृ, पूर्वजन्म, पेट, लीवर इत्यादि विषय का सम्बन्ध पंचम भाव से होता है निश्चित ही राहु ग्रह अपने गोचर में उपर्युक्त विषय का फल प्रदान करेगा खासकर तब जब आपकी दशा राहु की चल रही हो।

18 महीना तक राहु आपके इसी भाव में भ्रमण करते रहेंगे जाहिर है जो ग्रह जिस भाव में संचरण करेगा अपने स्वाभाविक स्वभाव के अनुसार फल प्रदान करेगा। राहु पंचम भाव से लग्न, लाभ तथा भाग्य स्थान को देख रहा है अतः राहु गोचर के दौरान, जातक अपने शरीर बल तथा बुद्धि कौशल से धन लाभ और भाग्य का निर्माण करेगा। इस समय जातक को धन लाभ तथा भाग्य निर्माण में बुद्धि तथा संतान की विशेष भूमिका होगी ये दोनों साधन साध्य सिद्धि में निश्चित ही सहायक होगा।

राहु गोचर 2017 का मीन राशि पर प्रभाव | Rahu Transit Effects on Pisces

छात्रों में विषयी ज्ञान के प्रति धोड़ा कन्फ्यूजन बढ़ेगा और उसका मुख्य कारण होगा शॉर्टकट रास्ता अपनाना या पढाई को गंभीरता से न लेना इसी कारण परीक्षा में असफलता मिल सकती है अतः तन, मन और धन से मेहनत करे सफलता कदम चूमेगी। आप किसी के प्रलोभन में आकर सत्य रास्तो से विचलित न हो तो अच्छा रहेगा।

जो महिला गर्भवती हैं उन्हें इस समय यथोचित डॉक्टर की देखरेख में रहना चाहिए अन्यथा किसी इन्फेक्शन के कारण परेशानी हो सकती है। पहले से संतान है तो संतान की पूरी तरह से देखभाल करे। संतान के साथ या संतान के द्वारा छल-कपट हो सकता है इस कारण आप मानसिक रूप से परेशान रहेंगे।

यदि कहीं प्रेम प्रसंग ( जानें ! क्या मुझे प्रेम में सफलता मिलेगी ?) चल रहा है तो सतर्क हो जाए प्रेम में धोखा जिससे मानसिक परेशानी हो सकता है। दाम्पत्य जीवन में विशेष परेशानी नहीं आएगी हां यदि आपकी कुंडली में बुध ग्रह अशुभ भाव या अशुभ ग्रहो से प्रभावित है तो वैवाहिक जीवन में क्लेश सम्भव है।

यदि आप कोई व्यवसाय ( Business yoga in Astrology) कर रहे है और उसमे परिवर्तन करना चाह रहे है तो अचानक कोई निर्णय न ले क्योंकि अचानक निर्णय नुकसान देने वाला होगा। यदि आप शेयर मार्केट के कार्य से जुड़े है तो संभल जाए ऐसा न की भावना में सब कुछ गवां दे।

व्यवसाय के दृष्टिकोण से जमींन-जायदाद, मशीनरी कार्य, मैकेनिकल कार्य, हार्डवेयर, ब्यूटी पार्लर, संगीत, डांस केमिकल, दवा इत्यादि का काम करने वालो के लिये राहु का गोचर शुभ फल प्रदान करेगा परन्तु अपने काम के प्रति सत्यता तथा निष्ठा अवश्य बनाये रखे अर्थात 2 नम्बर के कार्य से बचे यदि ऐसा करते है तो नुकसान हो सकता है।

आपका स्वास्थ्य सामान्य रहेगा। पेट सम्बन्धित परेशानी हो सकती है। पेट में गैस की समस्या से आप प्रभावित हो सकते है। अतः अपने खान-पान का विशेष ध्यान रखें। माता का स्वास्थ्य कुछ खराब हो सकता है अतः रेगुलर मेडिकल चेकउप कराते रहे। बड़े भाई तथा माता पिता के प्रति सकारात्मक विचार रखे तथा उनसे आशीर्वाद लेना न भूले यदि उनका दिल दुखाते है तो आपको हानि हो सकता है।

 
Tagged with 

  • Astrological Combination for Transfer in Service
  • ओपल रत्न पति-पत्नी क्लेश को दूर करता है
  • राहु का राशि परिवर्तन 2017 | Rahu Transit Effects 2017
  • Abortion | Miscarriage combination in Birth Chart
  • Abroad Travel and Settlement Yoga in Vedic Astrology
  • Astrological remedies for career or professional growth
  •    

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *