रुद्राक्ष एक लाभ अनेक | Rudraksh Pahanane ke Fayade

रुद्राक्ष एक लाभ अनेक | Rudraksh Pahanane ke Fayade भगवान शिव वा महादेव को खुश करने का सबसे आसान उपाय है रुद्राक्ष धारण करना। रुद्राक्ष धारण करने से शिवजी इंसान की हर इच्छाये शीघ्र ही पूरा करते है। कहा जाता है कि भगवान् महादेव जब  तपस्या के बाद जब अपनी आँखे खोली तब उनकी आंखों से आंसू धरती पर गिरा जिस स्थान पर भगवान् रूद्र के आंख का आंसू गिरा था वहां एक रुद्राक्ष का वृक्ष उत्पन्न हो गया। वस्तुतः यह शिव / रूद्र की दृश्यता तथा रूपात्मकता का आधार है।

 

शिव के डमरू से उत्पन्न 14 महेश्वर सूत्र का निवास भी रुद्राक्ष पर होता है। शिव के अश्रु से उत्पन्न रुद्राक्ष 14 प्रकार के होते हैं जिसे एक मुखी रुद्राक्ष, दो मुखी ……. और चौदह मुखी के नाम से इस संसार में उपलब्ध है। हर मुखी रुद्राक्ष विशेष शक्ति से युक्त होता है तथा इस रुद्राक्ष में लोगो इच्छाओ को पूरा करने की शक्ति समाहित होती है।

कहा जाता हैं कि असली रुद्राक्ष को विधिपूर्वक धारण करने से व्यकि की समस्त समस्याएं शीघ्र ही दूर हो जाती है यही नहीं उसे मुक्ति वा मोक्ष की भी प्राप्ति होती है। वस्तुतः इस धरती पर रुद्राक्ष हम सभी के लिए एक वरदान स्वरूप ही है। आइये जानते है की रुद्राक्ष के पहनने से हमें क्या-क्या लाभ होता है।

एक मुखी रुद्राक्ष

रुद्राक्ष एक लाभ अनेक | Rudraksh Pahanane ke Fayade

सूर्य ग्रह से संचालित एकमुखी रुद्राक्ष सभी प्रकार के समस्याओ से निजात दिलाता है।  इसके पहनने से व्यक्ति लोक में मान सम्मान और यश को प्राप्त करता है। ……… आगे पढ़े

दो मुखी रुद्राक्ष

रुद्राक्ष एक लाभ अनेक | Rudraksh Pahanane ke Fayade

चन्द्रमा से संचालित दो मुखी रुद्राक्ष शिव और पार्वती रूप में है यह रुद्राक्ष हमारे दांपत्‍य जीवन में आने वाली रोज रोज  के परेशानी को शीघ्र ही दूर  भगाता है। ………………….. आगे पढ़े

तीन मुखी रुद्राक्ष

रुद्राक्ष एक लाभ अनेक | Rudraksh Pahanane ke Fayade

मंगल ग्रह से संचालित तीन मुखी रुद्राक्ष के धारण करने से इस जन्म में शरीर से किये गए पाप शीघ्र ही नष्ट हो जाता है। यह रोगी के रोग को समाप्त रखने की शक्ति रखता है  ……………………..आगे पढ़े

चार मुखी रुद्राक्ष

रुद्राक्ष एक लाभ अनेक | Rudraksh Pahanane ke Fayade

बुध ग्रह से संचालित चार मुखी रुद्राक्ष के धारण करने से सद्बुद्धि का विकास होता है लेखन शक्ति की वृद्धि होती है यह रुद्राक्ष छात्रों को अवश्य पहनना चाहिए। …….  आगे पढ़े

पांच मुखी रुद्राक्ष

रुद्राक्ष एक लाभ अनेक | Rudraksh Pahanane ke Fayade

गुरु/ वृहस्पति ग्रह से संचालित पञ्च मुखी रुद्राक्ष पहनने से हत्या जैसे जघन्य अपराध से मुक्ति मिल जाती है यह ज्ञान की वृद्धि करता है   ……………….                   आगे पढ़े

छ: मुखी रुद्राक्ष

रुद्राक्ष एक लाभ अनेक | Rudraksh Pahanane ke Fayade

शुक्र ग्रह से संचालित छह मुखी रुद्राक्ष भगवान कार्तिकेय रूप में है।  इसके पहनने से रोग मुक्त हो जाता है तथा सांसारिक वैराग्यता की ओर अग्रसर भी होता  है  ………….. आगे पढ़े

सात मुखी रुद्राक्ष

रुद्राक्ष एक लाभ अनेक | Rudraksh Pahanane ke Fayade

शनि ग्रह से संचालित सात मुखी रुद्राक्ष साक्षात कामदेव रूप में स्थित है इसके धारण करने से विपुल वैभव, भाग्योदय और उत्तम आरोग्य की प्राप्ति होती है  ……………. आगे पढ़े

आठ मुखी रुद्राक्ष

रुद्राक्ष एक लाभ अनेक | Rudraksh Pahanane ke Fayade

राहु ग्रह से संचालित आठ मुखी रुद्राक्ष धारण करने से राहु जनित परेशानियो को शीघ्र ही समाप्त कर देता है जो व्यक्ति बहुत झूठ बोलता है या झूठ बोलकर कमाता है उसे अवश्य ही पहनना यह रुद्राक्ष धारण करना चाहिये  ……………. आगे पढ़े

नौ मुखी रुद्राक्ष

रुद्राक्ष एक लाभ अनेक | Rudraksh Pahanane ke Fayade

केतु ग्रह से संचालित नौ मुखी रुद्राक्ष साक्षात् भैरव स्वरूप है इसके धारण करने से व्यक्ति को यमराज का भी भय नहीं रहता है। यह रुद्राक्ष माता भगवती की नौ शक्तियों का प्रतीक माना गया है। नौ मुखी रुद्राक्ष के पहनने से अनेक लाभ होते हैं इसके धारण से धन सम्पत्ति, मान सम्मान, यश, कीर्ति तथा सभी प्रकार के भौतिक सुखो के साथ साथ आध्यांत्मिक सुख की वृद्धि होती है। यह  रुद्राक्ष ब्रह्म हत्या तथा भ्रूण ह्त्या जैसे अपराध / पाप से मुक्त करता है।

दस मुखी रुद्राक्ष

रुद्राक्ष एक लाभ अनेक | Rudraksh Pahanane ke Fayade

दस मुखी रुद्राक्ष का संचालक ग्रह कोई भी नहीं है दश मुखी रुद्राक्ष में चमत्कारी शक्ति इतनी है की यह नवग्रह के नियंत्रण केंद्र से भी ऊपर है इसी कारण इसका नियंत्रक और संचालक ग्रह कोई नहीं है।    इसके धारण करने से नवग्रह शांत होते है। यह साक्षात् भगवान जनार्दन / विष्णु् का स्वरूप है। दश मुखी रुद्राक्ष जादू-टोने और भूत- प्रेत से उत्पन्न बाधा से रक्षा करता है। इस रुद्राक्ष पर दस महाविद्यायों का निवास होता है।

ग्‍यारह मुखी रुद्राक्ष

रुद्राक्ष एक लाभ अनेक | Rudraksh Pahanane ke Fayade

यह रुद्राक्ष योग साधना में लगे हुए साधक के लिए बहुत ही अनुकूल है। यह रुद्राक्ष शरीर स्वास्थ्य, यम नियम आसन प्राणायाम इत्यादि यौगिक क्रियाओ में आने वाली बाधाओ को दूर करता है। यदि आप दान नहीं करते है तो इस रुद्राक्ष के धारण करने से दान का फल मिलता है। इसके धारण करने से ग्यारह इन्द्रियों नियंत्रित होती है।

बारह मुखी रुद्राक्ष

रुद्राक्ष एक लाभ अनेक | Rudraksh Pahanane ke Fayade

सूर्य ग्रह से संचालित द्वादश मुखी रुद्राक्ष असाध्य और भयानक रोगों से छुटकारा दिलाता है। यह रुद्राक्ष ह्रदय रोग, पेट रोग और मस्तिष्क से सम्बन्धित बीमारियों को दूर करने में सहायक होता है।   यह ग्रह एक मुखी ग्रह का स्थापन्न ग्रह है। …………….. आगे पढ़े

तेरह मुखी रुद्राक्ष

रुद्राक्ष एक लाभ अनेक | Rudraksh Pahanane ke Fayade

तेरह मुखी रुद्राक्ष सभी कामनाओ और सिद्धियों को देने वाला होता है। इसके धारण करने से कामदेव  प्रसन्न होते है और सभी कामनाओ की पूर्ति, धन लाभ, आयुर्वेद का ज्ञान तथा सम्पूर्ण सुख भोग की प्राप्ति होती है। तेरह मुखी रुद्राक्ष निसंतान दंपत्तियों को संतान प्राप्ति में सहयोग करता है। इसके धारण करने से आपमें वशीकरण तथा आकर्षण बढ़ेगा। यह रुद्राक्ष छह मुखी रुद्राक्ष का स्थापन्न है।

चौदह मुखी रुद्राक्ष

रुद्राक्ष एक लाभ अनेक | Rudraksh Pahanane ke Fayade

चौदह मुखी रुद्राक्ष को सात मुखी के स्थान पर भी पहना जाता है। यह रुद्राक्ष भगवान शिव को अत्यंत ही प्रिय है। शनि-शांति के लिए चतुर्दशमुखी रुद्राक्ष को सप्तमुखी रुद्राक्ष के साथ पहनने से और अधिक लाभ होता है। इस रुद्राक्ष पर हनुमान जी का अधिवास माना गया है। यह रुद्राक्ष भूत-पिशाच, डाकिनी, शाकिनी इत्यादि से भी रक्षा करता है।


Contact for Astro Services

 
Tagged with 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *