गुरु का तुला में गोचर का वृष राशि पर प्रभाव | Jupiter Transit in Libra

गुरु का तुला में गोचर का वृष राशि पर प्रभाव | Jupiter Transit in Libraगुरु का तुला में गोचर का वृष राशि पर प्रभाव | Jupiter Transit in Libra . गुरु / बृहस्पति गोचर में तुला राशि में 12 सितंबर 2017 को प्रवेश करने वाले हैं और इसी राशि में वे 12 अक्टूबर 2018 तक भ्रमण करते रहेंगे। गुरु /बृहस्पति का तुला में गोचर का प्रभाव विभिन्न राशियों पर भिन्न भिन्न रूप में पड़ेगा। आइये जानते है कि बृहस्पति/ गुरु का कन्या राशि से तुला राशि में परिवर्तन से जीवन के विभिन्न क्षेत्रों यथा धन, भाई-बंधू, माता-पिता, परिवार, शिक्षा ( Education)   व्यवसाय, वैवाहिक जीवन ( Family life)  इत्यादि पर कितना प्रभाव पड़ेगा। इस राशि में गुरु सबसे पहले मंगल के चित्रा नक्षत्र में भ्रमण करेंगे उसके बाद राहु तथा गुरु के नक्षत्र में परिभ्रमण करेंगे। वही नवांश में तुला राशि से लेकर वृष राशि तक क्रमशः परिभ्रमण करेंगे। गुरु ज्ञान, धन तथा शुभ फल का कारक ग्रह होने के कारण शुभ फल देता है परन्तु तुला राशि में गुरु अपने शत्रु स्थान में होगा अतः पूर्णतः शुभत्व प्रदान करने में असमर्थ होगा।

 

यहां लग्न तथा चंद्र राशि को आधार मानकर, गुरु का द्वादश राशियों पर क्या प्रभाव पड़ने वाला है का विस्तृत वर्णन किया जा रहा है। जन्म कुंडली में चन्द्रमा ( Moon)  जिस राशि में होता है उसे ही राशि या चन्द्र राशि कहते है। आइये जानते है ! गुरु का गोचर में तुला राशि में आने से सभी राशियों पर क्या-क्या असर पड़ेगा है।

गुरु का तुला में गोचर का वृष राशि पर प्रभाव | Jupiter Transit Effect on Taurus

वृष राशि तथा वृष लग्न वालो की जन्म कुंडली में वृहस्पति का गोचर( Transit of Jupiter) छठे / षष्ठ भाव में हो रहा है। गुरु इस स्थान में बैठकर कर्म, व्यय तथा धन स्थान को देख रहा है अतः स्पष्ट है की कठिन मेहनत से ही सफलता मिलेगी। कार्यक्षेत्र के लिए यह समय अनुकूल है । यदि आप नौकरी ( Service )  की तलाश कर रहे है तो नौकरी ( Service ) मिलने की शत प्रतिशत संभावना है । यदि आप नौकरी कर रहे है और नौकरी में परिवर्तन चाह रहे है तो अनुकूल समय है आपको इस समय का लाभ उठाना चाहिए।इस समय आपके प्रोन्नति  ( Promotion ) का भी योग बन रहा है।

आर्थिक व पारिवारिक मामलों के लिए भी यह समय अनुकूल रहेगा। व्यवसाय के लिए लोन लेने पड़ सकते है। केश मुकदमा में लाभ मिल सकता है । लड़ाई-झगड़ा एवं विवाद का योग बन रहा है इसलिए यथा सम्भव इससे बचने का प्रयास करे। बिना विशेष कारण के आपको फ़साने का प्रयास किया जा सकता है । इस दौरान बीबी का खर्च बढ़ जाएगा या आप उनके नाम पर कोई इन्वेस्टमेंट करेंगे।

यदि आप विद्यार्थियों(Students) है तो प्रतियोगी परीक्षा में सफलता पाने का बढ़िया सुवसर है अतः प्रतियोगी बने सफलता कदम चूमेगी। हां इस समय पढ़ने का मन नहीं करेगा परन्तु यही तो आपकी परीक्षा है मन लगाकर पढाई शुरू कर दे । यदि पढ़ने में मन नहीं लग रहा है तो यह कर सकते है  तार्किक बने इसका फायदा मिलेगा।

स्वास्थ्य की दृष्टि से गुरु का गोचर कुछ अच्छा नहीं लग रहा है स्वास्थ खराब हो सकता है अतः तुरंत ध्यान दे आलस्य न करे। कोई स्थाई बिमारी हो सकती है खासकर शुगर, ब्लड प्रेशर इत्यादि । आपको हॉस्पिटल जाने का योग बन रहा है इस मद में व्यय हो सकता है ।

शत्रुओ से बचे उसे हावी न होने दें। लाभेश तथा अष्टमेश गुरु कर्म, विदेश (Foreign) तथा धन भाव को देख रहा अतः कार्य को लेकर विदेश यात्रा या लम्बी यात्रा करनी पड़ सकती है। गुरु अष्टमेश भी है इस कारण से विदेश यात्रा के ऊपर खर्च होगा तथा व्यवधान भी उत्पन्न हो सकता है ।

 
Tagged with 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *