Jupiter Transit in Libra । तुला में गुरु गोचर का विभिन्न राशियों पर प्रभाव

Jupiter Transit in Libra । तुला में गुरु गोचर का विभिन्न राशियों पर प्रभावJupiter Transit in Libra । तुला में गुरु गोचर का विभिन्न राशियों पर प्रभाव | गुरु / बृहस्पति गोचर में तुला राशि में 12 सितंबर 2017 को प्रवेश करेंगे और इसी राशि में वे 12 अक्टूबर 2018 तक भ्रमण करते रहेंगे। गुरु /बृहस्पति का तुला में गोचर का प्रभाव विभिन्न राशियों पर भिन्न भिन्न रूप में पड़ेगा। आइये जानते है कि बृहस्पति/ गुरु का कन्या से तुला राशि में परिवर्तन से जीवन के विभिन्न क्षेत्रों यथा भाई-बंधू, धन, माता-पिता, शिक्षा, व्यवसाय, परिवार, वैवाहिक जीवन इत्यादि क्या क्या प्रभाव पड़ेगा।  इस राशि में गुरु सबसे पहले मंगल के चित्रा नक्षत्र में भ्रमण करेंगे उसके बाद राहु तथा गुरु के नक्षत्र में भ्रमण करेंगे। नवांश में तुला राशि से लेकर वृष राशि तक क्रमशः भ्रमण करेंगे। गुरु ज्ञान, धन तथा शुभ फल का कारक ग्रह होने के कारण शुभ फल देता है परन्तु तुला राशि में गुरु अपने शत्रु स्थान में होगा अतः पूर्णतः शुभत्व प्रदान करने में असमर्थ होगा। ग्रहीय ब्रह्माण्ड में गुरु सबसे शुभ ग्रह है।

 

लग्न तथा चंद्र राशि को आधार मानकर, गुरु का बारहो राशियों पर क्या प्रभाव पड़ेगा का विवेचन   किया जा रहा है। जन्म कुंडली में चन्द्रमा जिस राशि में होता है उसे ही राशि या चन्द्र राशि कहते है। आइये जानते है ! गुरु का गोचर में तुला राशि में आने से सभी राशियों पर क्या-क्या असर पड़ेगा है।

तुला में गुरु गोचर का मेष राशि पर प्रभाव | Jupiter Transit Effects on Aries Sign

सितंबर 2017 में गुरु गोचर में सप्तम भाव में होकर लग्न को देख रहा है अतः अत्यंत संघर्ष के बाद आय के साधन बनेंगे। आपकी इच्छाएं पूर्ण होने में संदेह रहेगा। कार्य क्षेत्र में सफलता के लिए दौर -धूप अधिक करना पडेगा।  यदि पार्टनरशिप में कोई कार्य करना चाहते है तो अभी न करे तो अच्छा रहेगा।  दाम्पत्य जीवन ( Family Life)  में परेशानी आ सकती है।

गुरु का तुला में गोचर का वृष राशि पर प्रभाव |Jupiter Transit Effects on Taurus

वृष राशि तथा वृष लग्न वालो की कुंडली में गुरु का गोचर (Transit of Jupiter) छठे / षष्ठ भाव में हो रहा है। गुरु इस स्थान में बैठने से आपको कठिन मेहनत से सफलता मिलेगी। जहाँ भी आप काम कर रहे है वहाँ सौहार्दपूर्ण वातावरण बना रहेगा। नौकरी (Service) की तलाश कर रहे है तो नौकरी (Service) मिलने की शत प्रतिशत संभावना है ———– क्रमश: आगे पढ़े

तुला में गुरु गोचर का मिथुन राशि पर प्रभाव | Jupiter Transit Effects on Gemini

मिथुन राशि तथा लग्न वाले जातक की कुंडली में गुरु का गोचर( Transit of Jupiter ) पंचम भाव ( Fifth House ) में हो रहा है। पंचम भाव लक्ष्मी, संतान, बुद्धि, प्यार, शेयर मार्किट, धन इत्यादि का है अतः आपको इन्ही विषयों से सम्बंधित फल की प्राप्ति होगी।  यदि शेयर मार्केट में इन्वेस्टमेंट करते है तो सोच-समझकर ही लगाए अचानक लाभ तथा हानि दोनों के लिए तैयार रहे। आप जितना सोचेंगे उससे कम लाभ होगा । इस कारण आप मानसिक तनाव (Depression ) में भी आ सकते है ——– क्रमश: आगे पढ़े

गुरु का तुला में गोचर का कर्क राशि पर प्रभाव | Jupiter Transit Effects on Cancer

कर्क राशि वाले जातक के लिए गुरु का गोचर चतुर्थ भाव में हो रहा है अतः व्यक्ति को चतुर्थ भाव से सम्बंधित फल मिलेगा। यदि आप नया घर (New house) लेना चाह रहे है तो आपके लिए यह बहुत अच्छा अवसर है। वृहस्पति के गोचर के दौरान घर लेने के लिए मन बना लीजिये। इस समय गुरु आपको नया मकान देने सक्षम है।— आगे पढ़े

तुला में गुरु गोचर का सिंह राशि पर प्रभाव | Jupiter Transit Effects on Leo Sign

इस समय वृहस्पति गोचर में आपके तीसरे भाव में होंगे फलस्वरूप आप बुद्धि चातुर्य से अपने भाग्य का निर्माण करने में सफल होंगे। पैतृक सम्पति को लेकर भाइयो में मनमुटाव हो सकता है। अतः आपको अपने धैर्य तथा विवेक का परिचय देते हुए समस्या का समाधान सोचे। ——–   क्रमश: आगे पढ़े

तुला में गुरु गोचर का कन्या राशि पर प्रभाव | Jupiter Transit Effects on Virgo Sign

गुरु सितंबर 2017 से गोचर में आपके धन स्थान में होंगे तथा वहाँ से सप्तम दृष्टि से आठवे  भाव को देखेंगे अतः आपका रुका हुआ धन वापस मिल सकता है। यदि आप कोई जीवन बीमा करा रखे है तो इन्सुरेंस की परिपक्वता राशि मिल सकती है। इस आप जमीन जायदाद की खरीद बिक्री कर सकते है। —— क्रमश:आगे पढ़े

गुरु का तुला में गोचर का तुला राशि पर प्रभाव | Jupiter Transit Effects on Libra Sign

तुला राशि वालो के लिए गुरु तीसरे  तथा छठे भाव का स्वामी होकर लग्न में स्थित है जो आपके लिए बहुत अनुकूल नही है। षष्ठेश होकर लग्न में गुरु आपके स्वास्थ्य को ख़राब करेगा। इसलिए स्वास्थय को लेकर सावधान रहे। बीमार होने की प्रबल संभावना रहेगी। खान पान में ध्यान दे। यात्रा का योग बन रहा है। धार्मिक यात्रा हो सकती है।——– क्रमश:आगे पढ़े

तुला में गुरु गोचर का वृश्चिक राशि पर प्रभाव | Jupiter Transit Effect on Scorpio Sign

वृश्चिक राशि के लिए गुरु (Jupiter) धन भाव का स्वामी होकर बारहवें भाव में गोचर करेगा अतः किसी शुभ कार्य में खर्च होगा। घर में मांगलिक कार्य हो सकते है। आपके पुत्र विदेश में पढने के लिए ( Foreign Education)  जा सकता है या उसके एडमिशन लेने में आपको डोनेशन देना पर सकता है। परिवार को लेकर परेशानी हो सकती है।– क्रमश:आगे पढ़े

गुरु गोचर का धनु राशि पर प्रभाव | Jupiter Transit Effects on Sagittarius Sign

वृहस्पति/गुरु प्रथम तथा चतुर्थ भाव का स्वामी होकर गोचर में आपके लाभ स्थान में स्थित है अतः आपको आपको धन का लाभ ( Wealth yoga in horoscope)  मिलने वाला है। इस समय आपको मकान, गाड़ी तथा शिक्षा का लाभ मिलने वाला है। गुरु गोचर में प्रबल धन योग बना रहा है। अतः धन कमाने के नए-नए तरीका मिल सकता है। घर में कोई नए सदस्य का आगमन होने वाला है।–  क्रमश:आगे पढ़े

तुला में गुरु गोचर का मकर राशि पर प्रभाव | Jupiter Transit Effects on Capricorn

इस समय गुरु का गोचर आपके कर्म भाव में हो रहा है। गुरु तीसरे तथा बारहवे भाव का स्वामी होकर आपके कार्यस्थल में स्थित है अतः आपके कार्यो में रुकावट आएगी। आपके व्यापार और व्यवसाय में व्यधान होगा। व्यवसाय और नौकरी को लेकर आप परेशान हो सकते है। नौकरी में परिवर्तन या स्थानांतरण ( Transfer in Job)   संभव है। पिता के धन का उपयोग कर सकते है। — क्रमश:आगे पढ़े

तुला में गुरु गोचर का कुम्भ राशि पर प्रभाव | Jupiter Transit Effects on Aquarius

सितंबर 2017 से बृहस्पति का गोचर आपके भाग्यस्थान पर होगा इस कारण गुरु यह स्थिति आपके लिए अच्छा है। 2017 में गोचर का गुरु आपके भाग्योदय में सहायक होगा। गुरु आपके कुंडली में धनेश और लाभेश होकर भाग्य स्थान में स्थित होकर आपके अंदर पैसे कमाने के प्रति उत्साह और विश्वास को बनाये रखेगा। व्यवसाय और नौकरी में सफलता मिलेगी। — क्रमश:आगे पढ़े

गुरु का तुला में गोचर का मीन राशि पर प्रभाव | Jupiter Transit Effects on Pisces Sign

यदि आप मीन राशि के है तो सितंबर 2017 से गुरु का गोचर आपके अष्टम भाव में हो रहा है अत: आपके कार्यो में रूकावट आएगी। व्यवसाय को लेकर आप परेशान रहेंगे क्योकि गुरु कर्म स्थान का स्वामी होकर अष्टम में होगा। धार्मिक कार्यो में रूचि बढ़ेगी। प्रॉपर्टी की खरीद बिक्री करेंगे। पिताजी से मनमुटाव हो सकता है। पत्नी से धन लाभ हो सकता है।– क्रमश:आगे पढ़े

 
Tagged with 

  • 31 Vastu tips for shops / showroom | दूकान के लिए वास्तु नियम
  • 51 Vastu Dosh Remedies | 51 वास्तुदोष निवारण सूत्र
  • Abroad Travel and Settlement Yoga in Vedic Astrology
  • Astrological remedies for career or professional growth
  • Divorce Line in Palm|हथेली में तलाक रेखा
  • Divorce or Separation in Astrology
  • Diwali Mahaparv Muhurt 2017 | दीपावली शुभ मुहूर्त 2017
  • Diwali Pujan Vidhi / दीपावली पूजन कैसे करें
  • Ear – कान के बनावट से जानें अपना भविष्य
  • Effect of Finger in Tilak | किस उंगली से करे तिलक
  • Effects of Chandan Tilak | चन्दन तिलक का महत्त्व और लाभ
  • 21 Vastu tips for students
  • 2017 शारदीय नवरात्रि तिथि | Shardiya Navratri Date 2017
  •  
    loading...

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *