Ketu Transit 2018 | केतु गोचर 2018 तुला राशि पर प्रभाव

Ketu Transit 2017 | केतु गोचर 2017 तुला राशि पर प्रभावKetu Transit 2018 | केतु गोचर 2018 तुला राशि पर प्रभाव. केतु ग्रह मकर राशि में प्रवेश 9 सितम्बर 2017 को किया है तथा 24 मार्च 2019 तक मकर राशि में ही रहेगा। गोचर के दौरान केतु मकर राशि में कुल 18 महीने 15 दिन तक भ्रमण करते रहेगा।

 

आइये इस लेख के माध्यम से जानते है कि केतु गोचर (Ketu Transit 2018) का तुला राशि वाले जातक के जीवन यात्रा पर क्या-क्या असर पड़ने वाला है। जातक के विभिन्न क्षेत्रों जैसे विवाह, व्यवसाय, स्वास्थ्य, माता-पिता, धन  जानें ! ( क्या आपके कुंडली में धन योग है ?), परिवार,पढाई-लिखे, भाई-बंधू,संतान ( क्या आपको संतान सुख है ?) इत्यादि पर अवश्य ही प्रभाव पड़ेगा।

Ketu Transit 2018 | केतु गोचर 2018 तुला राशि पर प्रभाव

9 सिम्बर 2017 से केतु तुला राशि से चतुर्थ भाव में भ्रमण किया है ।यह भाव घर, माता, दिल, मन, वाहन, स्वास्थ और सुख-सुविधाओं इत्यादि से जुड़ा हुआ है। केतु गोचर (Ketu Transit 2018) के दौरान आपके अन्तः चित में आध्यात्म का दौर जोरो से शुरू होगा। आप मुक्ति की बात करने लगेंगे। आपके अंदर कभी-कभी घबराहट भी आ सकता है। मानसिक असंतोष हो सकता है की आपको झकझोड़कर रख दे। आपके विचारो का कद्र आपके सोच के विपरीत हो सकता है और इसी कारण आप में असंतोष की भावना बलवती होने लगेगी।

केतु के चौथे भाव में गोचर करने से पारिवारिक रिश्तों में तनाव तथा विवाद की स्थिति पैदा हो सकती है। इसका मुख्य कारण होगा सत्य को छुपाना। अतः ऐसा न करे तो अच्छा रहेगा।  सम्पत्ति को लेकर कोई विवाद घर के सभी सदस्यों के सामने आ सकता है और गुस्से में हो सकता है की घर छोड़ने की भी बात करने लगेंगे परन्तु ऐसा न करे धैर्य का परिचय दे तुरंत अपनी प्रतिक्रिया देने से बचें।

इस समय प्रोपर्टी का क्रय या विक्रय के लिए अनुकूल नहीं है यदि खरीदना या बेचना जरुरी है तो जल्दबाजी में निर्णय न लें । यदि किराए के मकान में रह रहे है तो मकान चेंज करना पर सकता है। केतु के गोचर दौरान आपके दाम्पत्य जीवन भी तनावपूर्ण रह सकता है।

माता का स्वास्थ ख़राब हो सकता है उनके सेहत का पूरा ख्याल रखने की आवश्यकता है। आपका तथा माता के मध्य मतभेद हो सकता है यह मतभेद प्रॉपर्टी को लेकर हो सकता है। ऐसी स्थिति में घर के गार्जियन के विचार का पूरा ख्याल रख कर ही कोई कदम आगे बढ़ाये बरना आप सबसे अलग-थलग पर जाएंगे। मामा पक्ष के लोगों के साथ आपके संबंध तनावपूर्ण हो सकते है आैर उनके साथ विचारो की भिन्नता के कारण टकराव हो सकती है।

इस लेख को भी अवश्य पढ़े

1.  गुरु के तुला में गोचर का राशियों पर प्रभाव

2.  राहु के कर्क में गोचर का राशियों पर प्रभाव

3मंगल के वृश्चिक में गोचर 2018 का राशियों पर प्रभाव

 
Tagged with 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *