सत्यनारायण पूजा व्रत तिथि 2018 | Satynarayan Vrat Date 2018

सत्यनारायण पूजा व्रत तिथि 2018 | Satynarayan Vrat Date 2018. ‘भगवान सत्यनारायण’ विष्णु के अवतार माने जाते है।  सत्यनारायण व्रत की पूजा अर्चना पूर्णिमा के दिन  की जाती है। इस दिन भक्त दिन भर उपवास रखते है तथा संध्या काल में ‘भगवान सत्यनारायण’  व “विष्णु जी” की विधिवत पूजा तथा ध्यानपूर्वक कथा का श्रवण करते है। सत्यनाराण भगवन की पूजा सांय काल में ही करनी चाहिए इस काल की पूजा बहुत  ही शुभ मानी जाती है।  पूजा की समाप्ति के बाद  भक्त प्रसाद वितरण करते है तत्पश्चात दिनभर का उपवास तोड़ते हैं।

 

भगवान् विष्णु की पूजा सम्पूर्ण विधि-विधान के साथ करना चाहिए। भगवान विष्णु की प्रतिमा को ‘पंचामृत’ (दूध, शहद, घी, दही व चीनी का मिश्रण)  से स्नान कराना चाहिए।  प्रसाद  में गेहूं के आटे का चूर्ण बनाना चाहिए तथा ऋतुफल चढ़ाना चाहिए ।  पूजा में तुलसी के पत्तों का प्रयोग अवश्य ही करना चाहिए।

पूजा के बाद भगवान् सत्यनारायण की कथा अवश्य ही सुननी चाहिए बिना कथा के पूजा का कोई महत्त्व नहीं है।  यही कथा भक्तो के कष्ट का निवारण करती है। कथा समाप्त होने के बाद  भगवान् की आरती की जाती है इसके बाद सभी श्रद्धालुओं को ‘पंचामृत’ तथा ऋतुफल का प्रसाद वितरण किया जाता है।

श्री सत्यनारायण व्रत पूजा से लाभ

  • इस व्रत को करने से सभी प्रकार के असामयिक कष्ट समाप्त हो जाते है। 
  • कार्य में आने वाले अवरोध कम हो जाते है। 
  • इस व्रत को करने से धन-धान्य की वृद्धि होती है।
  • मनोवांछित इच्छा की अवश्य ही पूर्ति होती है।
  • यदि संतान सुख का अभाव है और आप  नियमित व्रत करते है तो निश्चित ही संतान सुख की प्राप्ति होगी। 
  • शत्रु का नाश होता है। 
  • यदि आप अवैध रूप से धनार्जन करते है और आप सत्यनारायण व्रत करते है तो निश्चित ही मुक्ति मिलेगी। 

सत्यनारायण पूजा व्रत तिथि 2018 | Satynarayan Vrat Date 2018

दिनांक और महीना दिन  तिथिमास
02,  जनवरीमंगलवारपूर्णिमापौष
31, जनवरीबुधवारपूर्णिमामाध
01, मार्चवृहस्पतिवारपूर्णिमाफाल्गुन
31, मार्चशनिवारपूर्णिमाचैत्र
30, अप्रैलसोमवारपूर्णिमावैशाख
29, मईमंगलवारपूर्णिमाज्येष्ठ
28, जूनवृहस्पतिवारपूर्णिमाज्येष्ठ
27, जुलाईशुक्रवारपूर्णिमाआषाढ़
26, अगस्तरविवारपूर्णिमासावन
25, सितम्बरमंगलवारपूर्णिमाभादो
24, अक्टूबरबुधवारपूर्णिमाआश्विन
23, नवम्बरशुक्रवारपूर्णिमाकार्तिक
22, दिसम्बरशनिवारपूर्णिमामार्गशीष

 
Tagged with 
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *