Tula Rashifal 2018 | तुला राशिफल 2018

Tula Rashifal 2018 | तुला राशिफल 2018, आपका नववर्ष  मंगलमय हो। नव वर्ष में आपके मन में अनेक प्रश्न उठ रहे होंगे यथा मेरे लिए कैसा रहेगा यह साल ? पदोन्नति होगी या नहीं ? क्या इस साल शादी होगी ? इत्यादि इत्यादि। आइए ग्रहों की स्थिति के आधार पर आपके प्रश्नों के उत्तर जानने का प्रयास करते है। साल के प्रारम्भ में शनि वृश्चिक राशि में और गुरू सिंह राशि में होगा।

आइये जानते है नववर्ष 2018 में तुला राशि के जातको का राशिफल कैसा होगा। नव वर्ष की शुरूआत में गुरु तुला राशि होगा उसके बाद गुरु का गोचर अक्टूबर में वृश्चिक राशि में होगा। शनिदेव सम्पूर्ण वर्ष धनु राशि में ही रहेंगे। राहु और केतु क्रमशः कर्क तथा मकर में सम्पूर्ण वर्ष रहेंगे।

तीव्रगामी ग्रह मंगल 15 जनवरी तक तुला राशि में होगा तथा उसके बाद वृश्चिक में 7 मार्च तक रहेगा इसके बाद 2 मई तक धनु में रहेगा। इसके बाद नवंबर 2018 तक मकर में रहकर 22 दिसम्बर को कुम्भ राशि में भ्रमण करेगा।
उसी प्रकार अन्य ग्रह भी सभी राशियों में संचार करेगा और उसका प्रभाव अल्पकाल के लिए ही सही आपके ऊपर अवश्य पड़ेगा। मेरी कोशिश यही होगी आपके जीवन में आने वाले सभी पहलुओ पर यथा संभव प्रकाश डालें ताकि आपको भविष्य की योजना बनाने में मदद मिल सके। यह भविष्यवाणी चन्द्र राशि तथा वैदिक ज्योतिष के आधार पर किया गया है।

तुला राशि (Libra Sign)  रा,री,रू,रे,ता,ति,तु,ते  

आइये जानते है नववर्ष 2018 में तुला राशि के जातकों का राशिफल कैसा होगा। वैदिक ज्योतिष पर आधारित भविष्यफल पढ़ने के बाद आप वर्ष 2018 में होने वाली सभी प्रकार के घटना-दुर्घटना से पूर्व में ही परिचित हो जाएंगे और और आशा ही नहीं पूर्ण विश्वास है की आप नए वर्ष की पूरी योजना बनाने में सफल रहेंगे।

Tula Rashifal 2018 | तुला राशिफल 2018

Tula Rashifal 2018 | तुला राशिफल 2018

आप और आपका पारिवारिक जीवन |You and Your Family Life

तुला राशि वालो के लिए शनि चतुर्थेश और पंचमेश होने के कारण योगकारक ग्रह है और योगकारक होकर तृतीय स्थान में बैठा है अतः आप आपका गृह परिवर्तन संभव है और यह परिवर्तन घर में उपस्थित सदस्यों भाई-बहन के साथ अच्छा सम्बन्ध नहीं होने के कारण हो सकता है। भाई-बहन के साथ सम्बन्धो में कड़वाहट आ सकती है। पारिवारिक सम्पति को लेकर भाइयो के साथ रिश्ता खराब हो सकता है। इसके कारण दाम्पत्य जीवन में भी परेशानी आ सकती है।एक दूसरे के ऊपर आरोप प्रत्यारोप संभव है  अतः सच्चाइयो का सामना करना ही आपके लिये बेहतर विकल्प होगा।

चतुर्थेश शनि होने के कारण माता जी के कारण पारिवारिक विभेद का योग है। संतान पक्ष को लेकर कोई विवाद हो सकता है साथ ही उनकी सेहत को लेकर भी परेशानी हो सकती है। पिताजी यदि साझेदारी में कोई व्यवसाय करते है तो थोड़ा सँभलने में ही बुद्धिमानी है आपस में विवाद हो सकता है। पिताजी को कोई बिमारी परेशान कर सकती है खासकर जोड़ो का दर्द। परिवार के ऊपर खर्च होने का योग है। घर में साज-सज्जा के ऊपर खर्च हो सकता है।

स्वास्थ्य (Health)

स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से इस वर्ष ज्यादा सतर्क rahne की आवश्यकता है। शरीर के गुप्त भाग में परेशानी हो सकती है। किडनी, गॉलब्लेडर, लिवर इत्यादि में कोई दिक्कत आ सकती है अतः डॉकटर के सम्पर्क में रहना उचित होगा। मस्तिष्क,तथा जोड़ों में दर्द जैसी बीमारी के शिकार हो सकते है। ठंढा-गर्म के कारण आप बीमार हो सकते है। पाचन सम्बन्धी शिकायत भी हो सकती है। लिवर में सूजन आ सकता है। अपने खान-पान पर विशेष ध्यान दें। नियमित व्यायाम करने से ऐसी बीमारियों में लाभ मिलेगा।

धन-संपत्ति (Wealth)

धन-संपत्ति के मामलों में पूरी सावधानी बरतने की आवश्यकता है। संतान के ऊपर धन व्यय करना पर सकता है तथा संतान से धन का लाभ दोनों संभव है। अक्टूबर से धन कारक गुरु आपके धन भाव में होंगे यह स्थिति धन के लिए शुभ संकेत है । यदि आप पैसे वाले है तो इस समय आप ब्याज पर पैसे देकर धन कमाएंगे।

क्या मेरी कुंडली में धन योग है ?

यदि गुरु की दशा अन्तर्दशा आपकी कुंडली में चल रही है तो आप लोन भी ले सकते है इसमें कोई संदेह नहीं यह लोन अपने पारिवारिक स्टेटस को बढ़ाने अथवा सुख सुविधा का उपभोग करने के लिए ले सकते है।

नौकरी (Job / Profession)

नौकरी भाव का स्वामी वृहस्पति लग्न में बैठे है तो आपको निश्चित ही नौकरी ( when I will get job) का लाभ मिलेगा  जो छात्र प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी में लगे है उन्हें भी अवश्य ही लाभ मिलनेवाला है किन्तु यदि आप छोटे रास्ते का चयन करते है तो असफलता हाथ लगेगी। आप अच्छी से नौकरी के लिए पढाई करे साल के अंत तक नौकरी के लिए बहुत ही अच्छा योग बना हुआ है अतः यह वर्ष आलस्य वा कोताही का नहीं है आपने पूरा एफर्ट दीजिये सफलता आपके कदमो में होगा।
शनि की दृष्टि बुद्धि भाव पर है इसके कारण आपमें नकारात्मक सोच डेवलप होगा अतः आप किसी भी तरह से ऐसा न होने दे यदि ऐसा होता है तो आपके लिए बहुत ही खराब है। छात्रों को आलस्य के कारण नुकसान होने वाला है अतःआलस्य से बचें अच्छा रहेगा। आप नौकरी में तरक्की ( Promotion)  का भी लाभ ले सकते हैं। अधिकारियों तथा सहकर्मियों का वांछित सहयोग मिलेगा। अतः आप भी सभी लोगों का पूर्ण सहयोग करें अपने अंदर सकारात्मक विचारों को जन्म दें आपको दोगुना लाभ मिलेगा।

व्यवसाय (Business)

आप कोई नया व्यवसाय प्रारम्भ कर सकते। साझे दारी में व्यवसाय करने का अवसर मिलने वाला है। यदि आप कोई फैक्ट्री लगाना चाह रहे है तो यह अनुकूल समय है इसके लिए परिश्रम करें अवश्य ही लाभ मिलेगा। आप पुराने प्रॉपर्टी को बेच कर कोई नया प्रॉपर्टी ले सकते है। आप जितना लाभ सोच रहे है उससे कम ही लाभ मिलेगा परन्तु घबराने की जरुरत नहीं है। ऐसा योग ही है इसमें आप कुछ नहीं कर सकते है। Business through Astrology

अचानक निवेश न करें अपने विश्वसनीय या किसी ज्योतिषी से सलाह जरूर ले लें। अपनी योजना बनाकर ही व्यय करें। अक्टूबर से किसी व्यवसाय में निवेश करेंगे इसके लिए आप बैंक से अथवा किसी सहयोगी से पैसा ले सकते है। शुभ कार्यो में खर्च होने की सम्भावना है। इस साल में आप साझेदारी में कोई कार्य कर सकते हैं।

प्रेम तथा यौन संबंध | Love &Sexual Relation

इस साल तुला राशि वालो के लिए यह वर्ष प्रेम और रोमांस से भरा वर्ष होगा प्रेम भाव का स्वामी प्रेम भाव को देख रहा है साथ ही विवाह भाव को भी देख रहा है अतः प्रेम और प्रेम विवाह ( Meri Shadi Love Marriage Hogi) दोनों का योग बन रहा है। यदि प्रेम का अध्याय पहले से शुरू है तो आप घर में अपने माता-पिता से अपने सम्बन्ध को बताकर परिणय -सूत्र में बंध सकते है। यदि आपकी जन्मकुंडली में विवाह की दशा अन्तर्दशा चल रही है तभी विवाह संभव है।

प्रेम भाव पर शनि देव की दृष्टि है अतः सामजिक मान मर्यादा के विपरीत कोई कार करते है तो सतर्क हो जाए आपके ऊपर आरोप लग सकता है। वाद-विवाद और उसके बाद केश-मुकदमा से इंकार नहीं किया जा सकता। अतः आप संभलकर प्रेमानंद लें। शादी-विवाह में बाधा के मुख्य कारण तथा समाधान

आप यौन सुख का आनंद तो लेंगे परन्तु सामंजस्य बनाना बहुत जरुरी है।बच्चों जैसे हरकतों से बचें। कहीं आपके चरित्र पर दाग न लग जाए।

क्या करें क्या न करें (What to do or Not)

  1. यदि पारिवारिक क्लेश से बचना चाहते है तो अपने वाणी पर लगाम लगाये तो अच्छा रहेगा।
  2. आप नीली या नीलम रत्न (Blue Sapphire) को धारण कर सकते है परन्तु धारण करने से पहले अवश्य ही जांच लें।
  3. कार्य तथा व्यापार में वृद्धि के लिए मोती रत्न (Pearl gemstone) को धारण कर सकते है।
  4. स्वास्थ्य सम्बन्धी परेशानी है तो आपको वृहस्पति व्रत अवश्य करना चाहिए साथ ही विष्णु सहस्त्र पाठ का नियमित पाठ करना चाहिए।

नवग्रह शांति हेतु पढ़े

  सूर्य

  चन्द्रमा

  मंगल

  बुध

  बृहस्पति

  शुक्र

  शनि

  राहु

  केतु


Tagged with 
About Dr. Deepak Sharma
Dr. Deepak Sharma is an expert in Vedic Astrology and Vastu with over 21 years experience in Horary or Prashn chart, Career, Business, Marriage, Compatibility, Relationship and so many other problems in life path. Remedies suggested by him like Mantra, Puja, donation, Rudraksh Therapy, Gemstone etc. For an appointment, come through Astro Services email - drdk108@gmail.com. Phone No 9643415100 ( Please don`t call me for free counsultation )

 

5 thoughts on “Tula Rashifal 2018 | तुला राशिफल 2018

  1. […] तुला राशि के जातक पर शनि की साढे साती का प्रभाव […]

    • ravindra pratap singh says:

      hum ko job mil jai gi ki nahi 17/09/1989date barth hai hamari sultan pur uttar pradesh. job ki talash hai gov nokri ki ya job pri bet good job need

  2. Rajesh Yadav says:

    Business ya phir nokri

  3. Rajesh Yadav says:

    Ye sal kaisa rahega

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *