वृश्चिक राशि वार्षिक भविष्यफल 2017

  वृश्चिक राशि वार्षिक भविष्यफल 2017वृश्चिक राशि वार्षिक भविष्यफल 2017 | Vrishchik Rashifal 2017 | Scorpio Sign Forecast 2017 इस साल वृश्चिक राशि के जातक की जन्मकुंडली में गुरु ग्रह ग्यारहवें भाव में होंगे तथा 12 सितंबर को बारहवें भाव तुला राशि में चले जाएंगे। शनि देव इस वर्ष आपके प्रथम भाव, वृश्चिक राशि में रहेंगे परन्तु 26 जनवरी को शनि आपके दूसरे भाव, धनु राशि में चले जाएंगे। राहु और केतु 9 सितंबर 2017 तक क्रमशः दसवें तथा चतुर्थ भाव में होंगे जो 9 सितंबर के बाद क्रमशः नवम तथा तृतीय भाव में चले जायेंगे। इसी प्रकार अन्य ग्रह भी सम्पूर्ण वर्ष सभी राशियों में भ्रमण करेंगे और जिसका प्रभाव आपके जीवन पथ पर किसी न किसी रूप में अवश्य पड़ेगा।
प्रस्तुत लेख के माध्यम से आपको अपने भविष्य की योजना बनाने में अवश्य ही मदद मिलेगी। आपको लग्न कुंडली तथा चन्द्र कुंडली दोनों की राशियों के फल को पढ़कर कोई कार्य योजना बनाना चाहिए।
यह भविष्यफल वैदिक ज्योतिष के आधार पर दिया गया है। इस भविष्यफल को पढ़ने के बाद आप साल 2017 में होने वाली अनेनानेक घटनाओं से पूर्व में ही परिचित हो जाएंगे और मेरा विश्वास है की आपको नए वर्ष की पूरी योजना बनाने में अवश्य ही सफलता मिलेगी।

 

वृश्चिक राशि वार्षिक भविष्यफल 2017

 

वृश्चिक राशि | Scorpio Sign : तो,न,नी,नू,ने,नो,या,यी,यू

पारिवारिक जीवन | Family Life

परिवार की दृष्टि से वर्ष 2017आपके लिए कुछ विशेष है। आपके द्वारा मकान के साजसज्जा पर विशेष व्यय किया जा सकता है। यदि आप कोई मकान खरीदना चाहते है तो आपकी ईच्छापूर्ति इस वर्ष होने वाली है।फिजूलखर्ची भी इस वर्ष संभव है अत: अनावश्यक ख़र्चों पर प्रतिबंध लगाने का यथासंभव प्रयास करें।

इस साल आपको भाई-बहनों का सहयोग अपेक्षित है और इसमें आपको सफलता मिलेगा। भाइयों अथवा मित्रों के साथ पैसे का लेन देन हो सकता है। काफी दिनों से रुका हुआ कोई महत्वपूर्ण कार्य पूरा हो सकता है। आकस्मिक कोई सुखद समाचार मिलने से आपका मन प्रसन्न होगा।

यदि आप वैवाहिक जीवन व्यतीत करने के लिए ईच्छुक है तो बस तैयारी शुरू कर दीजिए और यदि आपकी कुंडली में शुक्र ग्रह चतुर्थ पंचम अष्टम तथा एकादश भाव में है और शुक्र ग्रह की दशा भी चल रही है तो आप साल के मध्य तक निश्चित ही परिणय सूत्र में बंधने जा रहे हैं।

संतान के दृष्टिकोण से यह वर्ष महत्वपूर्ण है घर में कोई नया मेहमान आने का इन्तजार कर रहा है फैसला आपको लेना है। जीवनसाथी से आपको भरपूर सहयोग मिलेगा। जीवन साथी की तरफ से आप कोई कीमती उपहार मिलने की उम्मीद कर सकते हैं। साल के मध्य से आपके संबंध कुछ तनावपूर्ण रह सकते हैं। आनन्द और मौज मस्ती का दौर चलते रहेगा। किसी रचनात्मक काम में ध्यान लगाना लाभदायक रहेगा।

आलस्य का त्याग करे। मित्रों के साथ घूमने-फिरने व मौजमस्ती करने के कई मौके मिलेंगे। प्रेम संबंधों में स्नेह व सहयोग की कमी हो सकती है। किसी शुभ कार्य में धन ख़र्च करने के भी योग बने हुए हैं।

आर्थिक स्थिति | Wealth

धन के मामले में यह वर्ष बढ़िया है क्योकि धन का स्वामी गोचर में लाभ स्थान में बैठा है परन्तु यह स्थिति पुरे साल के लिए नहीं है अक्टूबर से बाद कमाया गया पैसा स्वतः ही खर्च होने लगेगा क्योकि धन का स्वामी आपके हानि या खर्च के स्थान में चले जाएंगे अतः नियोजित खर्च करे तो अच्छा रहेगा।

वर्ष के अंतिम तीन महीना में किसी कोई उधार न दे तो फायदे में रहेंगे। वैसे इस वर्ष धन के मामले में आप फायदे में रहेंगे। आपको आय के नए स्रोत मिलेंगे। साल के अंतिम में किसी शुभ कार्य में ख़र्च करने का अवसर मिलेगा। धन निवेश करना चाहते है तो धैर्य का परिचय अवश्य दे।

नौकरी | Job

यदि नौकरी के दृष्टि से बात करे तो साल २०१७ में आप अपनी निर्धारित लक्ष्य को प्राप्त करने की स्थिति में रहेंगे। केवल मार्च -अप्रैल, जून-जुलाई और अक्टूबर-नवम्बर सतर्क रहने की आवश्यकता है इस महीना किसी भी तरह की कोताही न बरते तो अच्छा रहेगा।

कार्यक्षेत्र में आपको अपने अधिकारी का सहयोग मिलेगा परन्तु इसके लिए आपको अपने अहंकार पर नियंत्रण करना पड़ेगा यदि ऐसा करते है तो उच्च अधिकारियों से आपको अवश्य ही प्रशंसा मिलेगी। किसी भी तरह के निंदा से बचे तो अच्छा रहेगा अपने काम से मतलब रखे तो अच्छा रहेगा परन्तु आप से ऐसा नहीं हो सकता है। नए नौकरी वालो को थोड़ा इन्तजार करना पड़ेगा। यदि नौकरी बदलना भी चाहते है तो बहुत अच्छा समय नहीं है।

व्यवसाय | Business 

व्यापार की दृष्टि से यह वर्ष अच्छा है कोई नया काम कर सकते हैं। व्यवसाय में वृद्धि होगी परन्तु आपको कठिन मेहनत करना पड़ेगा कई बार तो आप महशुस करेंगे की जो कार्य हम कर रहे है वह हमसे नहीं होगा परन्तु घबराने की जरुरत नहीं है यह तो केवल आपके धैर्य की प्रतीक्षा है। आपकी आय में आशातीत बढ़ोतरी संभव है। मित्रों के सहयोग से व्यापार में वृद्धि हो सकती है। आप अपने काम का विस्तार कर सकते हैं। यदि आप योजनाबद्ध होकर कोई काम कर रहे है तो निश्चित ही सफलता मिलेगी।

शिक्षा और प्रतियोगिता परीक्षा | Education and Competition 

छात्र और शिक्षा के दृष्टि से वर्ष 2017 बहुत ही महत्त्वपूर्ण है एक कहावत है “अभी नहीं तो कभी नहीं” ( If not now then never ) वाली स्थिति आपके साथ है अब सोचना क्या है अपनी पूरी ताकत लगा दीजिये बाद में आप अपने आप से यह कहने का मौका न दे की थोड़ा और मेहनत कर लेते तो टॉप टेन में आ जाते। देखिये कमी आप में हो सकती है समय में नहीं समय सहयोगी है आप अपना सहयोग दे सफलता आपके क़दमो तले होगी। परन्तु यह मत भूलें की यह सब अक्टूबर मास तक ही संभव है। यदि आप उच्च शिक्षा प्राप्त करना चाहते है तो यह उत्तम समय है कोशिश करे सफलता मिलेगी। भाग्य आपके पक्ष में है इसलिए अपना परिश्रम जारी रखें।

स्वास्थ्य | Health

स्वास्थ की दृष्टि से बहुत अच्छा नहीं है कोई न कोई परेशानी आ सकती है। ब्रेन से सम्बंधित कोई परेशानी हो सकती है। शरीर में चोट लग सकती है। मन बेचैन हो सकता है आपके अंदर गुस्सापन बढ़ेगा। यदि ब्लड प्रेशर की बिमारी से पहले से प्रभावित है तो ज्यादा सतर्कता की जरुरत है। अपने स्वास्थ्य के प्रति लापरवाही न बरते तो अच्छा रहेगा करें।

जानें !  वृश्चिक राशि के साढ़ेसाती का प्रभाव

प्रेम संबंध | Love Relationship

यदि प्रेम की दृष्टि से बात करे तो आपके प्रेम सम्बन्ध में प्रगाढ़ता बढ़ेगी। प्रेम विवाह का रूप भी ले सकता है इसके लिए आप प्रयास कर सकते है। परन्तु यदि प्रेम में पवित्रता नहीं है तो अवश्य ही संबंधों में सावधानी बरतें क्योंकि इस वर्ष गर्मी के मौसम में आपको अपमानित होना पर सकता है। अतः अपने संबंधों के प्रति जागरूक रहे प्रेम कहानी और प्रेम की रात बिताने से पहले हजार बार सोच ले तो अच्छा रहेगा।राशिफल 2018 | Rashifal 2018 in Hindi

क्या करें क्या न करें | What to do or not

  1. यदि मंगल की दशा चल रही है तो दुर्घटना से बचे तथा बिमारी से स्थिति में तुरंत डॉक्टर से परामर्श ले आलस्य न बरते। साथ ही साथ दुर्घटना से बचने के लिए प्रतिदिन हनुमान चालीसा का पाठ करे। बिमारी से छुटकारा पाने के लिए बजरंगबाण का पाठ करे।
  2. अपने गुस्से पर नियंत्रण रखे पानी ज्यादा पिए आपने आप गुसा कम हो जाएगा।
  3. आपको अपनी वाणी पर अंकुश रखने की जरुरत है छोटी-छोटी बातो पर न भड़के तो अच्छा रहेगा।
  4. प्रत्येक शनिवार के दिन सुन्दरकाण्ड का नियमित पाठ करें।
  5. घर में गुलाब का पौधा लगाए गुलाब के फूल का रंग लाल ही होना चाहिए।

 
Tagged with 
   

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *