About Dr. Deepak Sharma

Dr. Deepak Sharma is an expert in Vedic Astrology and Vastu with over 21 years experience in Horary or Prashn chart, Career, Business, Marriage, Compatibility, Relationship and so many other problems in life path. Remedies suggested by him like Mantra, Pooja, donation, Rudraksha Therapy, Gemstone, etc. My consultancy fee is 1100 Rs for horoscope analysis. Please don`t call me for a free consultation . For consultancy click Astro Services email - drdk108@gmail.com. Phone No 9868549875, 8010205995 ( whatsapp No)
Website: https://www.astroyantra.com
Dr. Deepak Sharma has written 647 articles so far, you can find them below.

Cat’s Eye | लहसुनिया रत्न केतु ग्रह के अशुभ प्रभाव को रोकता है

Cat’s Eye | लहसुनिया रत्न केतु ग्रह के अशुभ प्रभाव को रोकता है । लहसुनिया रत्न का धारण केतु ग्रह के अशुभ प्रभाव को समाप्त करने के लिए किया जाता है। यह श्रीलंका व काबुल के अलावा भारत के हिमालय, विंध्याचल के क्षेत्र में पाया जाता है। इसका स्वामी केतु ग्रह है, संस्कृत में इसे […]
0
Sudden death syndrome symptoms in palmistry

Sudden death syndrome symptoms in palmistry

Sudden death syndrome symptoms in palmistry. It is true that there is no particular line of death is available in the hands but a few signs on palm-like life line, the mount of Saturn and Mars which indicates sudden death, accident,  murder, suicide, death by poison, after long illness, death by an incurable disease, heart […]
0

Ashtlakshmi Yoga in Palm

Ashtlakshmi yoga, Raja Yoga, Bhadra yoga etc in the horoscope is formed by the lord of the Kendra and the lord of the triangle being situated in the same house, in the same way, the joining of several lines located in the palm also makes some yoga. Through this article, we will try to know […]
1

श्राद्ध पक्ष 2020 date

श्राद्ध पक्ष 2020 date. पितृ्पक्ष अर्थात श्राद्धपक्ष भाद्रपद शुक्ल पूर्णिमा 1 सितम्बर 2020 से आश्चिन कृ्ष्ण अमावस्या 17 सितम्बर 2020 तक होगा। पितृ पक्ष के 15 दिन मुख्य रूप से व्यक्ति के पूर्वजों के लिए समर्पित रह्ते है। पूर्वजों का मुक्ति मार्ग की ओर अग्रसर होना ही पितृ ऋण से मुक्ति दिलाता है। पितृ पक्ष […]
0

Venus Chakra in Astrology | शुक्र ग्रह के चक्र से जानें भविष्यफल

वैदिक ज्योतिष में भविष्यफल जाननें के लिए अनेक पद्धतियों का प्रचलन रहा है, इसी कड़ी में ग्रह विशेष का चक्र बनाकर फल कथन करने की परम्परा रही है आज इस लेख के माध्यम से हम बताने का प्रयास करेंगे कि किस प्रकार से शुक्र ग्रह के चक्र से भविष्य फल जाना जाता है । कैसे […]
0
Ashtakvarga Venus | शुक्र ग्रह के अष्टकवर्ग का फल

Ashtakvarga Venus | शुक्र ग्रह के अष्टकवर्ग का फल

जन्मकुंडली में शुक्र ( Venus ) ग्रह से विवाह (Marriage), पत्नी, वस्त्र, वाहन, लक्ष्मी, आधिभौतिक सुख इत्यादि का विचार किया जाता है। शुक्र ग्रह के अष्टकवर्ग के विभिन्न बिंदुओं का फल उस समय मिलता है जब शुक्र उन राशियों से गोचर करता है। जन्मकुंडली में शुक्र ग्रह की उच्च, नीच, शत्रु घर इत्यादि की स्थिति […]
0
Ashtakvarga Jupiter | बृहस्पति वा गुरु ग्रह के अष्टकवर्ग का फल

Ashtakvarga Jupiter | बृहस्पति वा गुरु ग्रह के अष्टकवर्ग का फल

बृहस्पति (Jupiter) के अष्टकवर्ग के माध्यम से संतान के विषय में समुचित जानकारी प्राप्त की जा सकती है। बृहस्पति बिन्दूविहीन जिस कक्षा से गुजरता है तब जातक को दुःख एवं धन, स्वास्थ्य तथा मान-सम्मान की हानि पहुँचाता है। Ashtakvarga | बृहस्पति / गुरु के अधिकतम और न्यूनतम बिंदु फल 8 बिंदु के फल | 8 Bindu Effects यदि […]
0
Inter-Caste Marriage | ज्योतिष में प्रेम व अन्तर्जातीय विवाह के कारण

Inter Caste Marriage | ज्योतिष में प्रेम व अन्तर्जातीय विवाह के कारण

Inter Caste Marriage | ज्योतिष में प्रेम व अन्तर्जातीय विवाह के कारण. सामान्यतः विवाह का यह संस्कार परिवारजनों की सहमति या इच्छा से अपनी जाति, समाज या समूह में ही किया जाता है फिर भी ऐसे कई उदाहरण मिलते हैं जहां विवाह परिवार की सहमति से न होकर स्वयं की इच्छा से किया जाता है। […]
1

Ashtakvarga Mercury | बुध ग्रह के अष्टकवर्ग का फल

Ashtakvarga Mercury | बुध ग्रह के अष्टकवर्ग का फल। जैसे विभिन्न भावों में ग्रहों की स्थिति के प्रभाव का आकलन जन्म लग्न और चंद्रमा से किया जाता है उसी तरह दूसरे ग्रहों को भी लग्न मानकर और उनसे भावों को गिनते हुए फलों का आकलन करना चाहिए। इस तरह 7 ग्रहों राहु और केतु को […]
0
Mars Transit Date 2021 | Mangal Gochar Date 2021

Ashtakvarga Mars | मंगल ग्रह के अष्टकवर्ग का फल

Ashtakvarga Mars | मंगल ग्रह के अष्टकवर्ग का फल। जिस प्रकार विभिन्न भावों में ग्रहों की स्थिति के प्रभाव का आकलन जन्म लग्न और चंद्रमा से किया जाता है उसी तरह दूसरे ग्रहों को भी लग्न मानकर और उनसे भावों को गिनते हुए फलों का आकलन करना चाहिए। इस तरह 7 ग्रहों राहु और केतु […]
0