Archives for;

Astrology

Venus Chakra in Astrology | शुक्र ग्रह के चक्र से जानें भविष्यफल

वैदिक ज्योतिष में भविष्यफल जाननें के लिए अनेक पद्धतियों का प्रचलन रहा है, इसी कड़ी में ग्रह विशेष का चक्र बनाकर फल कथन करने की परम्परा रही है आज इस लेख के माध्यम से हम बताने का प्रयास करेंगे कि किस प्रकार से शुक्र ग्रह के चक्र से भविष्य फल जाना जाता है । कैसे […]
0
Ashtakvarga Venus | शुक्र ग्रह के अष्टकवर्ग का फल

Ashtakvarga Venus | शुक्र ग्रह के अष्टकवर्ग का फल

जन्मकुंडली में शुक्र ( Venus ) ग्रह से विवाह (Marriage), पत्नी, वस्त्र, वाहन, लक्ष्मी, आधिभौतिक सुख इत्यादि का विचार किया जाता है। शुक्र ग्रह के अष्टकवर्ग के विभिन्न बिंदुओं का फल उस समय मिलता है जब शुक्र उन राशियों से गोचर करता है। जन्मकुंडली में शुक्र ग्रह की उच्च, नीच, शत्रु घर इत्यादि की स्थिति […]
0
Ashtakvarga Jupiter | बृहस्पति वा गुरु ग्रह के अष्टकवर्ग का फल

Ashtakvarga Jupiter | बृहस्पति वा गुरु ग्रह के अष्टकवर्ग का फल

बृहस्पति (Jupiter) के अष्टकवर्ग के माध्यम से संतान के विषय में समुचित जानकारी प्राप्त की जा सकती है। बृहस्पति बिन्दूविहीन जिस कक्षा से गुजरता है तब जातक को दुःख एवं धन, स्वास्थ्य तथा मान-सम्मान की हानि पहुँचाता है। Ashtakvarga | बृहस्पति / गुरु के अधिकतम और न्यूनतम बिंदु फल 8 बिंदु के फल | 8 Bindu Effects यदि […]
0
Inter-Caste Marriage | ज्योतिष में प्रेम व अन्तर्जातीय विवाह के कारण

Inter Caste Marriage | ज्योतिष में प्रेम व अन्तर्जातीय विवाह के कारण

Inter Caste Marriage | ज्योतिष में प्रेम व अन्तर्जातीय विवाह के कारण. सामान्यतः विवाह का यह संस्कार परिवारजनों की सहमति या इच्छा से अपनी जाति, समाज या समूह में ही किया जाता है फिर भी ऐसे कई उदाहरण मिलते हैं जहां विवाह परिवार की सहमति से न होकर स्वयं की इच्छा से किया जाता है। […]
1

Ashtakvarga Mercury | बुध ग्रह के अष्टकवर्ग का फल

Ashtakvarga Mercury | बुध ग्रह के अष्टकवर्ग का फल। जैसे विभिन्न भावों में ग्रहों की स्थिति के प्रभाव का आकलन जन्म लग्न और चंद्रमा से किया जाता है उसी तरह दूसरे ग्रहों को भी लग्न मानकर और उनसे भावों को गिनते हुए फलों का आकलन करना चाहिए। इस तरह 7 ग्रहों राहु और केतु को […]
0
Mars Transit Date 2021 | Mangal Gochar Date 2021

Ashtakvarga Mars | मंगल ग्रह के अष्टकवर्ग का फल

Ashtakvarga Mars | मंगल ग्रह के अष्टकवर्ग का फल। जिस प्रकार विभिन्न भावों में ग्रहों की स्थिति के प्रभाव का आकलन जन्म लग्न और चंद्रमा से किया जाता है उसी तरह दूसरे ग्रहों को भी लग्न मानकर और उनसे भावों को गिनते हुए फलों का आकलन करना चाहिए। इस तरह 7 ग्रहों राहु और केतु […]
0
Ashtakvarga | जन्मकुंडली में चन्द्रमा ग्रह के अष्टकवर्ग का फल

Ashtakvarga | जन्मकुंडली में चन्द्रमा ग्रह के अष्टकवर्ग का फल

Ashtakvarga | जन्मकुंडली में चन्द्रमा ग्रह के अष्टकवर्ग का फल जिस प्रकार विभिन्न भावों में ग्रहों की स्थिति के प्रभाव का आकलन जन्म लग्न और चंद्रमा से किया जाता है उसी तरह दूसरे ग्रहों को भी लग्न मानकर और उनसे भावों को गिनते हुए फलों का आकलन करना चाहिए। इस तरह 7 ग्रहों राहु और […]
0

Hora Muhurt | सभी कार्यों की सिद्धि हेतू होरा मुहूर्त नियम एवं विधि

भारतीय ज्योतिष में होरा मुहूर्त को विशेष महत्व दिया गया है। किसी भी शुभ मुहूर्त के निर्धारण काल में होरा पर भी विशेष ध्यान दिया जाता है यदि शुभ ग्रह की होरा में शुभ मुहूर्त का निर्धारण ज्योतिषी के द्वारा किया जाता है तो उस कार्य विशेष की सफलता में संदेह नही रहता बल्कि शीघ्र […]
4

Ashtakvarga | जन्मकुंडली में सूर्य के अष्टकवर्ग का फल

Ashtakvarga | जन्मकुंडली में सूर्य के अष्टकवर्ग का फल. जिस प्रकार विभिन्न भावों में ग्रहों की स्थिति के प्रभाव का आकलन जन्म लग्न और चंद्रमा ( Moon) से किया जाता है उसी तरह दूसरे ग्रहों को भी लग्न मानकर और उनसे भावों को गिनते हुए फलों का आकलन करना चाहिए। इस तरह 7 ग्रहों राहु […]
0

Vyatipata Upagraha | बारह भावों में व्यतिपात का फल

Vyatipata Upagraha | बारह भावों में व्यतिपात का फल ज्योतिष शास्त्र में राशि, ग्रह, भाव, भावेश, भाव कारक ग्रह, उच्च का ग्रह, नीच का ग्रह, शुभ तथा अशुभ ग्रह के आधार पर जातक के भविष्य फल का कथन किया जाता हैं। जिस प्रकार खगोल शास्त्र में कुछ ग्रहों के किंचित उपग्रह का भी अन्वेषण किया […]
0