सूर्य ग्रह की शांति हेतु मंत्र पूजा दानादि विधि | Sun Planets Remedies

सूर्य ग्रह की शांति हेतु मंत्र पूजा दानादि विधि | Sun Planets Remedies. वास्तव में सूर्य की ज्योति का अध्ययन ही ज्योतिष का मूल लक्षण है। सूर्यदेव के आशीर्वाद के बिना किसी भी व्यक्ति के लिए सांसारिक अथवा आध्यात्मिक विकास संभव नही होता है। किसी भी कुंडली में सूर्य की शक्ति के आकलन पर ही […]
0

Venus Remedies | शुक्र ग्रह की शांति हेतु मंत्र पूजा दानादि विधि

Venus Remedies | शुक्र ग्रह की शांति हेतु मंत्र पूजा दानादि विधि . शुक्र का देवाधिदेव महादेव से घनिष्ठ सम्बन्ध है और देवराज इंद्र इसके अधिदेवता है परन्तु शुक्र स्वयं दैत्यों के संरक्षक एवं पथ प्रदर्शक है। शुक्र ग्रह इस रहस्य को जानने से शुक्र की क्रियात्मक क्षमता विकास क्रम में इसका योगदान तथा फलित […]
0

Ketu Remedies | केतु ग्रह की शांति हेतु मंत्र, दान, पूजा तथा व्रत विधि

Ketu Remedies | केतु ग्रह की शांति हेतु मंत्र, दान, पूजा तथा व्रत विधि. पौराणिक कथा के अनुसार समुद्र मंथन के समय राहु नामक एक असुर ने धोखे से अमृत पान कर लिया था परन्तु जैसे ही अमृत पान किया की सूर्य और चंद्र ने उसे पहचान लिया और भगवान विष्णु को बता दिया। इससे […]
0

Rahu Planet | राहु ग्रह की शांति हेतु मंत्र, दान तथा पूजा विधि

Rahu Planet | राहु ग्रह की शांति हेतु मंत्र, दान तथा पूजा विधि . पौराणिक कथा के अनुसार समुद्र मंथन के समय राहु नामक एक असुर ने धोखे से अमृत पान कर लिया था परन्तु जैसे ही अमृत पान किया की सूर्य और चंद्र ने उसे पहचान लिया और मोहिनी अवतार में भगवान विष्णु को […]
1

31 Vastu Tips for Office

31 Vastu Tips for Office.  We all know that there are five elements (earth, water, fire, air and space) in every living and inanimate substance. With the combination of five elements, our body, house or workplace is made, so it is necessary to balance between these five elements. Whenever there is an imbalance in the […]
0

गुरु का दो ग्रहों के साथ युति फल | Effects of Jupiter Conjunction in Horoscope

गुरु का दो ग्रहों के साथ युति फल | Effects of Jupiter Conjunction in Horoscope. गुरु ग्रह के विषय में कहा गया है की जिस प्रकार शरीर में प्राण के निकल जाने पर शरीर मृत हो जाता उसी प्रकार जन्मकुंडली विना गुरु मृतप्राय ही है। जन्मकुंडली में गुरु ग्रह ज्ञान, न्याय दर्शन शास्त्र, विष्णु, ज्योतिष, शिक्षा, […]
1

सप्तम वा विवाह भाव में सूर्यादि ग्रहों की युति फल | Sun Conjunction in 7th House

सप्तम वा विवाह भाव में सूर्यादि ग्रहों की युति फल | Sun Conjunction 7th House. ज्योतिषशास्त्र में सप्तम भाव को विवाह, शादी वा कलत्र भाव से जाना जाता है। किसी भी जातक का दाम्पत्य सुख कैसा है उसका निर्णय जन्मकुंडली में सप्तम भाव, भावेश तथा कारक के शुभ अशुभ स्थिति के आधार पर ज्योतिषी करते […]
0

बुध का दो ग्रहों के साथ युति फल | Mercury Conjunction Effects

बुध का दो ग्रहों के साथ युति फल | Mercury Conjunction Effects. किसी भी जातक की जन्मकुंडली में बुध ग्रह बुद्धि, स्कूल, शिक्षा, व्यापार, गणित, कॉमर्स, बुआ, पार्क, गार्डन, लेखन, ज्योतिष इत्यादि का कारक है। यदि आपकी कुंडली में बुध उच्च का, अपने घर का, केंद्र या त्रिकोण स्थान में है तो जातक अपने जीवन […]
0

मंगल का विभिन्न भाव में शुभ अशुभ फल विचार | Mars in 12 Houses

मंगल का विभिन्न भाव में शुभ अशुभ फल विचार | Mars in 12 Houses. जिस प्रकार शरीर में रक्त का विशेष महत्त्व है उसी प्रकार किसी भी जन्मकुंडली में मंगल ग्रह का महत्त्वपूर्ण स्थान है। मंगल ग्रह से प्रभावित जातक का स्वभाव तीक्ष्ण, उग्र तथा साहसिक होता है। मंगल का वर्ण रक्त होता है। यह पित्त […]
0

चन्द्र मंगल योग धनप्रदायक है | Moon Mars Conjunction Result

चन्द्र मंगल योग धनप्रदायक है | Moon Mars Conjunction Result. जन्मकुंडली में ज्योतिषियों द्वारा दो, तीन, चार या पांच ग्रहो के योग फल को बहुत ही महत्त्व दिया है। जब दो या दो से अधिक ग्रह एक ही राशि में स्थित हों तो ग्रहों की इस अवस्था को युति कहते है तथा जब दो या […]
0